Home Universities मशरुम उत्पादन से छात्र करें स्वरोजगार स्थापित, दूसरों को भी दें रोजगार: अखिलेश कुमार पांडेय

मशरुम उत्पादन से छात्र करें स्वरोजगार स्थापित, दूसरों को भी दें रोजगार: अखिलेश कुमार पांडेय

EduBeats

उज्जैन 

विक्रम विश्वविद्यालय के पर्यावरण प्रबंधन अध्ययनशाला में कुलपति अखिलेश कुमार पांडेय द्वारा मशरुम खेती: परिचय, विकास एवं औद्योगिक उपयोग विषय पर विस्तृत व्याख्यान दिया गया। जिसमें वनस्पति विज्ञान अध्ययनशाला, प्राणिकी एवं जैवप्रौद्योगिकी अध्ययनशाला, पर्यावरण प्रबंधन अध्ययनशाला, रसायन एवं जैवरसायन विज्ञान अध्ययनशाला के छात्र-छात्राएं, शोधार्थी एवं शिक्षकगण उपस्थित थे।


स्वत्रंत्रता का अमृत महोत्सव कार्यक्रम का आयोजन लगातार विक्रम विश्वविद्यालय की विभिन्न अधयनशालाओं में किया जा रहा है। जिसके अंतर्गत विभिन्न विषयों पर वेबिनार, सेमिनार, शैक्षणिक व्याख्यान एवं अन्य कलात्मक कार्यक्रमों का आयोजन निरंतर जारी है। इसी कार्यक्रम की निरंतरता में विक्रम विश्वविद्यालय के कुलपति अखिलेश कुमार पांडेय द्वारा पर्यावरण प्रबंधन अध्ययनशाला में मशरुम उत्पादन एवं उनके औद्योगिक उपयोग विषय पर व्याख्यान दिया गया।


जिसमें विभिन्न अधयनशालाओं के छात्र-छात्राएं, शोधार्थी एवं शिक्षकगण उपस्थित थे। प्रो. पांडेय ने अपने उद्बोधन में बताया कि मशरुम खाने में स्वादिष्ट होने के साथ-साथ सेहत के लिए भी बहुत फायदेमंद है। एंटीऑक्सीडेंट होने के साथ प्रोटीन, विटामिन डी, सेलिनियम और जिंक से भरपूर मशरुम का इस्तेमाल कई प्रकार की दवाईयां बनाने में किया जाता है। इसमें मौजूद पोषक तत्व शरीर की बीमारियों से बचा सकते हैं तथा इम्यून सिस्टम को मजबूत करने का काम करते हैं। 


मशरुम में बीटा ग्लाइसिन और लिनोलिक एसिड होता है, जो कैंसर को कम करता है। मशरुम वजन कम करने एवं शुगर लेवल को नियंत्रित करने में सहायक होता है। वर्त्तमान समय में मशरुम द्वारा कई औद्योगिक उत्पाद तैयार किये जा रहे हैं, जैसे मशरुम प्रोटीन पाउडर, मशरूम फर्नीचर, मशरुम लाठर, मशरुम मीट, मशरुम ईंट (ब्रिक), मशरुम फ़िल्टर आदि। प्रो. पांडेय ने बताया कि मशरुम क्षेत्र में अनुसन्धान की अपार संभावनाए हैं। विद्यार्थी मशरुम की खेती द्वारा स्वरोजगार स्थापित कर दूसरों को भी रोजगार देने में सहायक बनें।


अड्डेबाजी

छपास प्रेमी

छपास प्रेमी

तस्वीरों में देखिए

UP में एक साल बाद खुले प्राथमिक विद्यालय, फूल और गुब्बारों से सजे स्कूलों में हुआ बच्चों का स्वागत
UP में एक साल बाद खुले प्राथमिक विद्यालय, फूल और गुब्बारों से सजे स्कूलों में हुआ बच्चों का स्वागत
उत्तराखंड संस्कृत विवि में तीन दिवसीय पुस्तक प्रर्दशनी का उद्घाटन
उत्तराखंड संस्कृत विवि में तीन दिवसीय पुस्तक प्रर्दशनी का उद्घाटन
पौधारोपरण कर मनाया गया गणतंत्र दिवस, देखें फैजुल्लागंज सरकारी स्कूल की खास तस्वीरें
पौधारोपरण कर मनाया गया गणतंत्र दिवस, देखें फैजुल्लागंज सरकारी स्कूल की खास तस्वीरें
सम्पूर्णानन्द संस्कृत विश्वविद्यालय ने राष्ट्रीय गणित दिवस के रूप में मनाई श्रीनिवास रामानुजन की जंयती
सम्पूर्णानन्द संस्कृत विश्वविद्यालय ने राष्ट्रीय गणित दिवस के रूप में मनाई श्रीनिवास रामानुजन की जंयती
यूपी के पहले डीआईजी सिराजुद्दीन अहमद के बेटे ने लविवि को सौंपी उनकी 100 साल पुरानी डिग्रियां
यूपी के पहले डीआईजी सिराजुद्दीन अहमद के बेटे ने लविवि को सौंपी उनकी 100 साल पुरानी डिग्रियां
संस्कृत विश्वविद्यालय में यूं मनाया गया गुरुनानक देव जी का 550वां प्रकाश पर्व
संस्कृत विश्वविद्यालय में यूं मनाया गया गुरुनानक देव जी का 550वां प्रकाश पर्व