Home Universities DDU ने घोषित किया रेट का रिजल्ट, इतने फीसदी सफल हुए अभ्यर्थी

DDU ने घोषित किया रेट का रिजल्ट, इतने फीसदी सफल हुए अभ्यर्थी

EduBeats

गोरखपुर
दीनदयाल उपाध्याय गोरखपुर विश्वविद्यालय द्वारा आयोजित शोध पात्रता परीक्षा (रेट) 2020-21 का परिणाम शुक्रवार को घोषित कर दिया गया है। परीक्षा में 40 फीसदी अभ्यर्थी सफल रहे हैं।  विश्वविद्यालय द्वारा आयोजित शोध पात्रता परीक्षा में अभ्यर्थियों के बीच इलाहाबाद विश्वविद्यालय द्वारा आयोजित शोध पात्रता परीक्षा से भी कड़ी प्रतिस्पर्धा देखने को मिली है।

 

इलाहाबाद विश्वविद्यालय में जहां 625 सीट के लिए 7200 अभ्यर्थियों ने आवेदन किया है। वहीं, गोरखपुर विश्वविद्यालय की 300 सीट के लिए 5265 अभ्यर्थियों ने आवेदन किया है। 1628 अभ्यर्थी सफल रहे हैं। इलाहाबाद विश्वविद्यालय में जहां 63 फीसदी अभ्यर्थी शामिल हुए। वहीं, गोरखपुर विश्वविद्यालय से 82 फीसदी अभ्यर्थी शामिल हुए। गोरखपुर विश्वविद्यालय की शोध पात्रता परीक्षा (रेट) की एक सीट के लिए 15 अभ्यर्थियों ने प्रतिस्पर्धा की है।

 

परीक्षा की सूचित और पारदर्शिता सुनिश्चित करने के लिए गोरखपुर विश्वविद्यालय शोध पात्रता (लिखित) परीक्षा 2020-21 में उत्तीर्ण अभ्यर्थियों के साक्षात्कार का आयोजन भी पहली बार ऑनलाइन मोड में करने का निर्णय लिया है। ऑनलाइन मोड में होने वाले सभी साक्षात्कार का वीडियो रिकॉर्डिंग भी किया जायेगा। विश्विद्यालय प्रशासन ने यह भी निर्णय लिया है कि उत्तीर्ण अभ्यर्थियों की वीडियो रिकॉर्डिंग को विश्विद्यालय की वेबसाइट पर अपलोड भी किया जायेगा।

 

गोरखपुर विश्वविद्यालय के शोध संबंधित ऑर्डिनेंस 2018 में जेआरएफ/आईसीएसएसआर/आईसीएचआर एवं अन्य राष्ट्रीय संस्थाओं से मिलने वाली छात्रवृत्ति वाले विद्यार्थियों को भी लिखित परीक्षा से छूट का प्रावधान नहीं किया गया है। गोरखपुर विश्वविद्यालय द्वारा आयोजित शोध पा़त्रता परीक्षा यह अभूतपूर्व रुचि तब देखी गयी जब विश्विद्यालय के शोध पात्रता परीक्षा ऑर्डिनेंस 2018 के अनुसार आवेदन करने वाले जेआरएफ उत्तीर्ण व अन्य स्कॉलरशिप प्राप्त अभ्यर्थियो को लिखित प्रवेश परीक्षा के दौरान किसी प्रकार की छूट नहीं दी गयी है। शोध पात्रता परीक्षा में सफल सभी शोधार्थियों को विवि प्रशासन की ओर से 1.20 लाख प्रतिवर्ष की छात्रवृत्ति प्रदान की जाएगी।

 

विश्वविद्यालय प्रशासन ने फैसला लिया है कि एक विभाग में दस से ज्यादा अभ्यर्थियों को पीएचडी में प्रवेश नहीं दिया जाएगा। गुणवत्तापूर्ण शोध के लिए यह निर्णय लिया गया है। विश्वविद्यालय प्रशासन ने यह पाया है कि कई प्रोफेसर एक साथ 8-10 विद्यार्थियों को शोध निर्देशन कर रहे हैं। जबकि यूजीसी के मानक के अनुसार प्रोफेसर एक समय मे अधिकतम 6 विद्यार्थियों को शोध करा सकते हैं।

 

शोध पात्रता परीक्षा के दौरान एक दिन पूर्व मंचकला में दृश्यकला का पेपर दिए जाने के अभ्यर्थियों की शिकायत पर भी विश्वविद्यालय प्रशासन ने अपना रूख साफ किया है। विवि प्रशासन ने बताया कि मंचकला और दृश्यकला में तर्कशक्ति के सवाल एक सरीखे थे। गलत पेपर अभ्यर्थी को आवंटित नहीं किया गया है।

 

ऑनलाइन मोड में आयोजित परीक्षा में जहां 24 राज्यों के अभ्यर्थियों ने कोरोना संकट के दौर में परीक्षा में प्रतिभागिता सुनिश्चित की। वहीं 85 फीसदी अभ्यर्थी उत्तर प्रदेश और खासकर पूर्वांचल के शामिल हुए हैं। इसमें ग्रामीण क्षेत्रों से शामिल होने वाले अभ्यर्थियों की संख्या अधिक रही।

 

शोध पात्रता परीक्षा में पंजीकृत कुल अभ्यर्थी -5265
परीक्षा में शामिल अभ्यर्थी - 4101
कुल फीसदी में उपस्थिति - 82 फीसदी
सफल अभ्यर्थी- 1628
कुल सीट - 300

अड्डेबाजी

छपास प्रेमी

छपास प्रेमी

तस्वीरों में देखिए

उत्तराखंड संस्कृत विवि में तीन दिवसीय पुस्तक प्रर्दशनी का उद्घाटन
उत्तराखंड संस्कृत विवि में तीन दिवसीय पुस्तक प्रर्दशनी का उद्घाटन
पौधारोपरण कर मनाया गया गणतंत्र दिवस, देखें फैजुल्लागंज सरकारी स्कूल की खास तस्वीरें
पौधारोपरण कर मनाया गया गणतंत्र दिवस, देखें फैजुल्लागंज सरकारी स्कूल की खास तस्वीरें
सम्पूर्णानन्द संस्कृत विश्वविद्यालय ने राष्ट्रीय गणित दिवस के रूप में मनाई श्रीनिवास रामानुजन की जंयती
सम्पूर्णानन्द संस्कृत विश्वविद्यालय ने राष्ट्रीय गणित दिवस के रूप में मनाई श्रीनिवास रामानुजन की जंयती
यूपी के पहले डीआईजी सिराजुद्दीन अहमद के बेटे ने लविवि को सौंपी उनकी 100 साल पुरानी डिग्रियां
यूपी के पहले डीआईजी सिराजुद्दीन अहमद के बेटे ने लविवि को सौंपी उनकी 100 साल पुरानी डिग्रियां
संस्कृत विश्वविद्यालय में यूं मनाया गया गुरुनानक देव जी का 550वां प्रकाश पर्व
संस्कृत विश्वविद्यालय में यूं मनाया गया गुरुनानक देव जी का 550वां प्रकाश पर्व
पठानकोट: NSUIके जिलाध्यक्ष बनाए गए अभयम शर्मा, काफिले की भीड़ देख उड़ जाएंगे होश
पठानकोट: NSUIके जिलाध्यक्ष बनाए गए अभयम शर्मा, काफिले की भीड़ देख उड़ जाएंगे होश