Home Universities प्रो. मनोज दीक्षित ने बताया नई शिक्षा नीति का व्यावहारिक पक्ष, कहा- संसाधन नहीं बल्कि साधक है मनुष्य

प्रो. मनोज दीक्षित ने बताया नई शिक्षा नीति का व्यावहारिक पक्ष, कहा- संसाधन नहीं बल्कि साधक है मनुष्य

EduBeats

लखनऊ
अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद की लखनऊ महानगर इकाई ने गुरुवार को लखनऊ विश्वविद्यालय के डीपीए सभागार में राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2020 पर संगोष्ठी का आयोजन किया। इस कार्यक्रम में मुख्य वक्ता के रूप में डॉ राम मनोहर लोहिया अवध विश्वविद्यालय के पूर्व कुलपति एवं लखनऊ विश्वविद्यालय के लोक प्रशासन विभाग के विभागाध्यक्ष प्रो. मनोज दीक्षित ने 'राष्ट्रीय शिक्षा नीति : भारतीय शिक्षा में प्राथमिकता एवं प्रासंगिकता' विषय पर छात्रों को संबोधित किया। इस दौरान दीक्षित ने कहा कि मानव संसाधन नहीं बल्कि साधक है।

 

संस्कृति से जुड़े रहेंगे छात्र: प्रो. मनोज दीक्षित
गोष्ठी को संबोधित करते हुए प्रो. मनोज दीक्षित ने कहा, 'इस शिक्षा नीति के आने से छात्रों में शैक्षिक गुणों के साथ ही साथ कार्यात्मक गुणों की भी वृद्धि होगी। प्रारंभिक शिक्षा मातृभाषा में होने से छात्र अपने संस्कृति के जुड़े रहेंगे। क्रेडिट केंद्रित व्यवस्था होने से छात्रों को अपने पसंद के विषय पढ़ने का अवसर मिलेगा। अब छात्र भौतिक विज्ञान जैसे वैज्ञानिक विषय के साथ ही साथ संगीत जैसे कलात्मक विषय भी पढ़ सकेंगे।'

 

NEP में आधुनिकता के साथ परंपरा का मिश्रण: प्रो. दीक्षित
प्रो. दीक्षित ने आगे कहा, 'मानव संसाधन विकास मंत्रालय को शिक्षा मंत्रालय में परिवर्तित करने की हमारी लंबे समय से चल रही मांग को इस शिक्षा नीति में स्वीकृत किया गया इसका हम स्वागत करते हैं क्यूंकि मानव संसाधन नहीं है साधक है। इस शिक्षा नीति के माध्यम से छात्रों को आधुनिकता के साथ ही साथ परंपरा मिश्रित शिक्षा प्राप्त होगी। लर्नर सेंट्रिक से परिवर्तित कर शिक्षा को लर्निंग सेंट्रिक की ओर ले जाने का ये शिक्षा नीति प्रयास करती है।'

 

ये हुए शामिल
गोष्ठी में आए हुए शिक्षकों, अतिथियों एवं विद्यार्थियों का आभार ज्ञापन अभाविप लखनऊ महानगर की अध्यक्षा डॉ. नीतू सिंह ने किया। कार्यक्रम का संचालन कामायनी बाजपेई द्वारा किया गया। कार्यक्रम में प्रमुख रूप से महानगर मंत्री अभिमन्यु प्रताप सिंह , प्रांत संगठन मंत्री घनश्याम शाही , पूर्व प्रांत अध्यक्ष डॉ राकेश दिवेदी , अवध प्रांत के पूर्व राज्य विश्वविद्यालय कार्य प्रमुख विवेक सिंह मोनू, सिद्धार्थ शाही, अपर्णा मिश्रा, विभाग संगठन मंत्री अंशुल श्रीवास्तव, महानगर संगठन मंत्री अनुज श्रीवास्तव, अधीश श्रीवास्तव, वैभव सक्सेना, अतुल पांडेय, शिवम् सिंह, नीतीश सिंह, अपूर्व दिवेदी, आलोक पांडेय, बख्तियार अहमद , अर्पित, मनीष महर्षि आदि कार्यकर्ता उपस्थित रहे।

RELATED NEWS

ADVERTISEMENT

ADVERTISEMENT