Home School बोर्ड और एंट्रेंस एग्जाम के बारे में स्टूडेंट और पैरेंट्स से बातचीत करेंगे शिक्षा मंत्री 

बोर्ड और एंट्रेंस एग्जाम के बारे में स्टूडेंट और पैरेंट्स से बातचीत करेंगे शिक्षा मंत्री 

EduBeats

नई दिल्ली

केंद्रीय शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल ‘निशंक’ ने शुक्रवार को कहा कि अगले साल होने वाली प्रतियोगी एवं स्कूल बोर्ड परीक्षायें छात्रों, शिक्षकों एवं अभिभावकों से संपर्क करने के बाद ही आयोजित की जाएंगी। निशंक ने कहा कि महामारी के दौर के बीच परीक्षा आयोजित करना किसी चुनौती से कम नहीं है।

 

निशंक ने कहा, 'कोविड—19 महामारी के कारण छायी अनिश्चितताओं के बावजूद, बोर्ड परीक्षाएं एवं उच्च शिक्षण संस्थानों में नामांकन के लिये प्रवेश परीक्षाएं आयोजित करना बेहद चुनौतीपूर्ण है।' उन्होंने कहा, 'मैं माता-पिताओं, छात्रों एवं ​शिक्षकों से इस बारे में बातचीत करूंगा और इस बातचीत के परिणाम के आधार पर ही परीक्षाओं का आयोजन किया जायेगा। मैं समझता हूं कि 2020 छात्रों के ​लिये बढ़िया नहीं रहा है और वे अपने भविष्य को लेकर चिंतित हैं।'

 

निशंक ने कहा, 'मैं तीन दिसंबर को छात्रों के साथ आनलाइन बातचीत करूंगा और आसन्न प्रतियोगी एवं बोर्ड परीक्षाओं पर उनके साथ चर्चा होगी। पूरे देश में कोरोना वायरस संक्रमण के प्रसार के मद्देनजर मार्च से ही स्कूल बंद हैं। कुछ राज्यों ने 15 अक्टूबर से आंशिक रूप से स्कूल खोले हैं जबकि कुछ प्रदेशों ने स्कूलों को लगातार बंद रखने का निर्णय लिया है।

भाषा 

अड्डेबाजी

छपास प्रेमी

छपास प्रेमी

तस्वीरों में देखिए

सम्पूर्णानन्द संस्कृत विश्वविद्यालय ने राष्ट्रीय गणित दिवस के रूप में मनाई श्रीनिवास रामानुजन की जंयती
सम्पूर्णानन्द संस्कृत विश्वविद्यालय ने राष्ट्रीय गणित दिवस के रूप में मनाई श्रीनिवास रामानुजन की जंयती
यूपी के पहले डीआईजी सिराजुद्दीन अहमद के बेटे ने लविवि को सौंपी उनकी 100 साल पुरानी डिग्रियां
यूपी के पहले डीआईजी सिराजुद्दीन अहमद के बेटे ने लविवि को सौंपी उनकी 100 साल पुरानी डिग्रियां
संस्कृत विश्वविद्यालय में यूं मनाया गया गुरुनानक देव जी का 550वां प्रकाश पर्व
संस्कृत विश्वविद्यालय में यूं मनाया गया गुरुनानक देव जी का 550वां प्रकाश पर्व
पठानकोट: NSUIके जिलाध्यक्ष बनाए गए अभयम शर्मा, काफिले की भीड़ देख उड़ जाएंगे होश
पठानकोट: NSUIके जिलाध्यक्ष बनाए गए अभयम शर्मा, काफिले की भीड़ देख उड़ जाएंगे होश
वाह दुर्गेश! लविवि का शताब्दी वर्ष, 100 परिवारों के बच्चों को बांटी कॉपी किताबें और खुशियां
वाह दुर्गेश! लविवि का शताब्दी वर्ष, 100 परिवारों के बच्चों को बांटी कॉपी किताबें और खुशियां
दिवाली पर रोशन हुए सरकारी स्कूल, शिक्षकों संग बच्चों ने बनाई रंगोली और जलाए दीपक
दिवाली पर रोशन हुए सरकारी स्कूल, शिक्षकों संग बच्चों ने बनाई रंगोली और जलाए दीपक