Home School 11वीं की छात्रा सफा बनीं राहुल गांधी की ट्रांसलेटर, हर तरफ हो रही चर्चा

11वीं की छात्रा सफा बनीं राहुल गांधी की ट्रांसलेटर, हर तरफ हो रही चर्चा

EduBeats

कोझिकोड
केरल के वायनाड जिले में 11वीं कक्षा की छात्रा बृहस्पतिवार को अपने स्कूल परिसर में कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी के भाषण का मलयालम में शानदार अनुवाद कर चर्चा का केन्द्र बन गई। अपने वायनाड लोकसभा क्षेत्र के वंडूर में एक सरकारी उच्चतर माध्यमिक स्कूल की छात्रा फातिमा सफा राहुल गांधी का भाषण सुन रही थीं। 

 

राहुल गांधी ने छात्रों से पूछा कि क्या कोई अपनी इच्छा से उनके भाषण का अनुवाद करना चाहेगा। उन्होंने कहा कि मैं जो कह रहा हूं, क्या यहां मौजूद कोई छात्र उसका अनुवाद करना चाहेगा? सफा के हाथ उठाते ही उन्होंने उसे तुरंत मंच पर आने के लिए कहा। वह बगैर हिचकिचाहट मंच पर पहुंच गई और बिना किसी दिक्कत के उनके भाषण का मलयालम में अनुवाद करने लगी। अपने भाषण के आखिरी में राहुल गांधी ने सफा से हाथ मिलाया और चॉकलेट बार गिफ्ट की।

 

राहुल गांधी ने छात्रों से दिमाग खुला रखने और अन्य के विचारों के प्रति ग्रहणशील बनने का आग्रह किया। उन्होंने कहा कि आपका दिमाग बंद नहीं रहना चाहिए। इसका मतलब है कि आपको दूसरों को सुनना होगा... आप वास्तव में वैज्ञानिक सोच वाले व्यक्ति तभी हो सकते हैं जब अन्य लोगों के विचारों के प्रति खुले और जिज्ञासु हों।

 

राहुल गांधी ने छात्रों से प्रयोगशाला के उपयोग को सफल बनाने का अनुरोध करते हुए कहा कि कुछ छात्र राजनीति में आ सकते हैं, कुछ डॉक्टर, वकील व कुछ और बन सकते हैं लेकिन आपको अपने अंदर की वैज्ञानिक प्रवृत्ति को घृणा के हाथों कभी नहीं मरने देना चाहिए। अन्य लोगों के विचारों की सराहना करना विज्ञान की नींव है।

RELATED NEWS

ADVERTISEMENT

ADVERTISEMENT