Home Others विश्वविद्यालय बनेंगे रोजगार का सृजन केंद्र : दिल्ली सरकार

विश्वविद्यालय बनेंगे रोजगार का सृजन केंद्र : दिल्ली सरकार

EduBeats

नई दिल्ली
बेरोजगारी का मुकाबला करने के लिए दिल्ली सरकार विश्वविद्यालयों को रोजगार का सृजन केंद्र बनाएगी। दिल्ली सरकार के मुताबिक उसका लक्ष्य विद्यार्थियों में उद्यमिता की सोच विकसित करना है। इसके लिए दिल्ली सरकार लगातार प्रयास कर रही है। दिल्ली के मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने कहा कि कोरोना महामारी से सारे विश्व में बेरोजगारी एक चुनौती के रूप में सामने आई है। नेताजी सुभाषचंद्र बोस की 125 वीं जयंती के अवसर पर उन्होंने नेताजी सुभाष प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय में डॉ. एपीजे अब्दुल कलाम लेक्चर थिएटर कॉम्प्लेक्स का उद्घाटन किया। इस अवसर पर विश्वविद्यालय में 50 मीटर ऊंचे राष्ट्रध्वज भी स्थापित किया गया।

 

उपमुख्यमंत्री ने कहा कि, ‘आपस के भेदभाव को भुलाकर, बेहतर शिक्षा के माध्यम से भारत के भविष्य को संवारना नेताजी को सबसे बड़ी श्रद्धांजलि है। नेताजी के सपने का भारत तब साकार होगा, जब देश के बच्चे कुशल बनकर देश के विकास में अपना योगदान दें। यही सच्ची देशभक्ति है।’

 

उपमुख्यमंत्री ने कहा कि, ‘नेताजी के नाम पर यह भारत का एकमात्र प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय है। इस संस्थान के स्टूडेंट्स के शानदार प्रदर्शन के कारण देश भर में नेताजी सुभाष प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय का नाम बहुत गर्व से लिया जाता है। यह दिल्ली सरकार के लिए गौरव की बात है। आज दिल्ली के सरकारी विद्यालयों के छात्र अंतरराष्ट्रीय ओलिंपियाड में भारत का परचम लहरा रहे हैं। यह विद्यार्थियों, शिक्षकों व दिल्ली के ईमानदार सरकार के संयुक्त प्रयासों का परिणाम है। यही कारण रहा है कि केंद्र सरकार के नीति आयोग ने अपनी रिपोर्ट में दिल्ली के सरकारी विद्यालयों को प्रथम स्थान दिया है। अब दिल्ली सरकार का यह सपना है कि उच्च शिक्षा में भी दिल्ली के संस्थान भारत एवं विश्व में अव्वल स्थान प्राप्त करें। इसके लिए नई सोच के साथ निरंतर मेहनत करने की आवश्यकता है।’

 

उल्लेखनीय है कि नए लेक्चर कॉम्प्लेक्स में ग्यारह हॉल हैं, जिसमें 1500 विद्यार्थियों के बैठने की क्षमता है। विश्वविद्यालय में 400 कंप्यूटर क्षमता के कंप्यूटर सेंटर की शुरूआत हुई है। विश्वविद्यालय में 14 नए स्नातक व 12 नए स्नातकोत्तर कोर्स शुरू किए गए हैं। इससे विश्वविद्यालय में नामांकन बढ़ा है। गौरतलब है कि एनएसयूटी में गीता कॉलोनी में पूर्वी व जाफरपुर में पश्चिमी कैंपस जोड़े गए हैं। नेताजी सुभाष प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय अटल रैंकिंग ऑफ इंस्टिट्यूट की सूची में पांचवे पायदान पर है।
आईएएनएस

अड्डेबाजी

छपास प्रेमी

छपास प्रेमी

तस्वीरों में देखिए

उत्तराखंड संस्कृत विवि में तीन दिवसीय पुस्तक प्रर्दशनी का उद्घाटन
उत्तराखंड संस्कृत विवि में तीन दिवसीय पुस्तक प्रर्दशनी का उद्घाटन
पौधारोपरण कर मनाया गया गणतंत्र दिवस, देखें फैजुल्लागंज सरकारी स्कूल की खास तस्वीरें
पौधारोपरण कर मनाया गया गणतंत्र दिवस, देखें फैजुल्लागंज सरकारी स्कूल की खास तस्वीरें
सम्पूर्णानन्द संस्कृत विश्वविद्यालय ने राष्ट्रीय गणित दिवस के रूप में मनाई श्रीनिवास रामानुजन की जंयती
सम्पूर्णानन्द संस्कृत विश्वविद्यालय ने राष्ट्रीय गणित दिवस के रूप में मनाई श्रीनिवास रामानुजन की जंयती
यूपी के पहले डीआईजी सिराजुद्दीन अहमद के बेटे ने लविवि को सौंपी उनकी 100 साल पुरानी डिग्रियां
यूपी के पहले डीआईजी सिराजुद्दीन अहमद के बेटे ने लविवि को सौंपी उनकी 100 साल पुरानी डिग्रियां
संस्कृत विश्वविद्यालय में यूं मनाया गया गुरुनानक देव जी का 550वां प्रकाश पर्व
संस्कृत विश्वविद्यालय में यूं मनाया गया गुरुनानक देव जी का 550वां प्रकाश पर्व
पठानकोट: NSUIके जिलाध्यक्ष बनाए गए अभयम शर्मा, काफिले की भीड़ देख उड़ जाएंगे होश
पठानकोट: NSUIके जिलाध्यक्ष बनाए गए अभयम शर्मा, काफिले की भीड़ देख उड़ जाएंगे होश