Home Others अब पढ़ाई होगी और आसान, इस सरकारी बैंक ने स्टूडेंट्स को ऑफर किया लोन

अब पढ़ाई होगी और आसान, इस सरकारी बैंक ने स्टूडेंट्स को ऑफर किया लोन

EduBeats

नई दिल्ली,
जो छात्र या जिन छात्रों के परिवार उनकी उच्च शिक्षा का खर्च नहीं उठा सकते, उनके लिए एजुकेशन लोन बहुत काम आता है। छात्रों को उनकी उच्च शिक्षा के लिए बैंक लोन देते हैं। एसबीआई भी ऐसा करता है। यह स्टूडेंट लोन देता है। एसबीआई स्टूडेंट लोन है, एक टर्म लोन है, जो भारतीय नागरिकों को भारत या विदेश में उच्च शिक्षा हासिल करने के लिए दिया जाता है। यह देश के भीतर और बाहर विदेशों में पढ़ाई के लिए दिया जाता है।


एसबीआई स्टूडेंट लोन भारत में यूजीसी / एआईसीटीई / आईएमसी / सरकार द्वारा अनुमोदित कॉलेजों / विश्वविद्यालयों के रेगुलर टेक्निकल और प्रोफेशनल डिग्री / डिप्लोमा पाठ्यक्रमों सहित स्नातक, स्नातकोत्तर आदि के लिए दिया जाता है। इसके अलावा, स्वायत्त संस्थानों जैसे आईआईटी, आईआईएम आदि द्वारा संचालित रेगुलर डिग्री/डिप्लोमा पाठ्यक्रम के लिए दिया जाता है।


इतना ही नहीं, केंद्र सरकार या राज्य सरकार द्वारा अनुमोदित शिक्षक प्रशिक्षण/नर्सिंग पाठ्यक्रम के लिए भी एसबीआई स्टूडेंट लोन दिया जाता है। इनके अलावा, नागरिक उड्डयन/शिपिंग/संबंधित नियामक प्राधिकरण के महानिदेशक द्वारा अनुमोदित वैमानिकी, पायलट प्रशिक्षण, शिपिंग आदि जैसे रेगुलर डिग्री/डिप्लोमा पाठ्यक्रम के लिए भी एसबीआई स्टूडेंट लोन उपलब्ध है।


वहीं, अगर विदेशों में पढ़ाई के संदर्भ में बात करें तो प्रतिष्ठित विश्वविद्यालयों द्वारा पेश किए जाने वाले जॉब ओरिएंटेड प्रोफेशनल/ टेक्निकल ग्रेजुएशन डिग्री पाठ्यक्रम / स्नातकोत्तर डिग्री और एमसीए, एमबीए, एमएस आदि जैसे डिप्लोमा पाठ्यक्रम के लिए एसबीआई स्टूडेंट लोन दिया जाता है। CIMA (चार्टर्ड इंस्टीट्यूट ऑफ मैनेजमेंट अकाउंटेंट्स), लंदन; यूएसए में CPA (सर्टिफाइड पब्लिक अकाउंटेंट) आदि द्वारा संचालित पाठ्यक्रमों के लिए भी एसबीआई स्टूडेंट लोन दिया जाता है।


SBI Student Loan की विशेषतायें और फायदे

-कम ब्याज दर होती है।

-छात्राओं के लिए ब्याज में रियायत मिलती है।

-7.5 लाख रुपये तक के लोन के लिए किसी कोलैटरल सिक्योरिटी की जरूरत नहीं होती।

-20 लाख तक के लोन पर कोई प्रोसेसिंग फीस नहीं लगती।

-पाठ्यक्रम पूरा होने के एक साल बाद रीपेमेंट शुरू होता है।

-पाठ्यक्रम पूरा होने के बाद 15 साल तक लोन चुकाने की सुविधा मिलती है।

-4 लाख रुपये तक के लोन पर कोई सीमा (मार्जिन) नहीं है।


लोन की रकम, ब्याज और प्रोसेसिंग फीस

छात्र द्वारा देश में पढ़ाई के लिए 50 लाख रुपये और विदेश में पढ़ाई के लिए 1.50 करोड़ रुपये तक का लोन लिया जा सकता है। एसबीआई स्टूडेंट लोन की प्रभावी ब्याज दर 8.65% है लेकिन छात्राओं के लिए ब्याज में 0.50% की छूट है। वहीं, प्रोसेसिंग फीस की बात करें तो 20 लाख रुपये तक के लोन पर शून्य प्रोसेसिंग फीस है। वहीं, 20 लाख रुपये से अधिक के लोन पर 10,000 रुपये (साथ में कर) प्रोसेसिंग फीस है।


एसबीआई स्टूडेंट लोन में क्या-क्या कवर होता है?

-कॉलेज/स्कूल/छात्रावास/परीक्षा/प्रयोगशाला की फीस।

-पाठ्यक्रम को पूरा करने के लिए आवश्यक किताबें/उपकरण/वर्दी और कंप्यूटर की खरीद। (पाठ्यक्रम पूरा करने के लिए देय कुल शिक्षण शुल्क का अधिकतम 20%)

-कॉशन डिपॉजिट/बिल्डिंग फंड/रिफंडेबल डिपॉजिट। (पूरे कोर्स के लिए ट्यूशन फीस का अधिकतम 10%)

-विदेश में पढ़ाई के लिए यात्रा खर्च/पैसेज मनी।

-अध्ययन टूर, प्रोजेक्ट वर्क और 50 हजार रुपये तक के दुपिहया वाहन की कीमत के अलावा अन्य खर्चे शामिल हैं।


अड्डेबाजी

छपास प्रेमी

छपास प्रेमी

तस्वीरों में देखिए

UP में एक साल बाद खुले प्राथमिक विद्यालय, फूल और गुब्बारों से सजे स्कूलों में हुआ बच्चों का स्वागत
UP में एक साल बाद खुले प्राथमिक विद्यालय, फूल और गुब्बारों से सजे स्कूलों में हुआ बच्चों का स्वागत
उत्तराखंड संस्कृत विवि में तीन दिवसीय पुस्तक प्रर्दशनी का उद्घाटन
उत्तराखंड संस्कृत विवि में तीन दिवसीय पुस्तक प्रर्दशनी का उद्घाटन
पौधारोपरण कर मनाया गया गणतंत्र दिवस, देखें फैजुल्लागंज सरकारी स्कूल की खास तस्वीरें
पौधारोपरण कर मनाया गया गणतंत्र दिवस, देखें फैजुल्लागंज सरकारी स्कूल की खास तस्वीरें
सम्पूर्णानन्द संस्कृत विश्वविद्यालय ने राष्ट्रीय गणित दिवस के रूप में मनाई श्रीनिवास रामानुजन की जंयती
सम्पूर्णानन्द संस्कृत विश्वविद्यालय ने राष्ट्रीय गणित दिवस के रूप में मनाई श्रीनिवास रामानुजन की जंयती
यूपी के पहले डीआईजी सिराजुद्दीन अहमद के बेटे ने लविवि को सौंपी उनकी 100 साल पुरानी डिग्रियां
यूपी के पहले डीआईजी सिराजुद्दीन अहमद के बेटे ने लविवि को सौंपी उनकी 100 साल पुरानी डिग्रियां
संस्कृत विश्वविद्यालय में यूं मनाया गया गुरुनानक देव जी का 550वां प्रकाश पर्व
संस्कृत विश्वविद्यालय में यूं मनाया गया गुरुनानक देव जी का 550वां प्रकाश पर्व