Home News लखनऊ: लोहिया संस्थान में 71 डॉक्टरों की होगी भर्ती, जानें तिथि

लखनऊ: लोहिया संस्थान में 71 डॉक्टरों की होगी भर्ती, जानें तिथि

लखनऊ
आरक्षण का मसला सुलझने के बाद संस्थान में डॉक्टरों की भर्ती की सुगबुगाहट शुरू हो गई है। उत्तर प्रदेश के लखनऊ स्थित लोहिया संस्थान में 71 डॉक्टरों की भर्ती निकली है। लोहिया प्रशासन ने दो माह में भर्ती प्रक्रिया पूरी करने का दावा किया है। संस्थान के निदेशक ने बताया कि कई विभागों में डॉक्टरों के पद खाली पड़े हैं, आदेश मिलने के बाद भर्ती की प्रक्रिया शुरू की जाएगी।

 

उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ के लोहिया संस्थान में डॉक्टरों की भर्ती के लिए जगह खाली है, जिसे भरने के लिए जल्दी ही वेकेंसी भी आने वाली है। संस्थान व अस्पताल को मिलाकर 1017 बेड हैं। संस्थान में करीब 150 डॉक्टर तथा अस्पताल में 43 डॉक्टर हैं लेकिन आपको बता दें कि संस्थान में करीब 71 डॉक्टरों के पद खाली पड़े हैं। संस्थान के निदेशक डॉ. ए. के. त्रिपाठी के अनुसार कई विभागों में डॉक्टरों के पद खाली पड़े हैं। सभी का ब्यौरा एकत्र कर लिया गया है। चिकित्सा शिक्षा विभाग से आरक्षण के नए नियम का आदेश मिलने के बाद भर्ती प्रक्रिया शुरू की जाएगी। दो से तीन माह में भर्ती प्रक्रिया पूरी होने की उम्मीद है। बता दें कि आरक्षण का रोस्टर तय नहीं हो पा रहा था, जिस कारण पदों की भर्तियां निकलने में समय लग गया लेकिन अब संस्थान के कुल पदों पर आरक्षण तय होगा, अभी तक विभागवार आरक्षण लागू था।

 

लोहिया संस्थान में एमबीबीएस की सीटों की संख्या 150 बढ़कर 200 हो गई है। ऐसे में संस्थान में संचालित 15 विभागों में एमडी-एमएस पाठ्यक्रम शुरू कराए जाएंगे। अभी सिर्फ पांच विभागों में एमडी की पढ़ाई हो रही है। संस्थान के अफसरों का कहना है कि एमबीबीएस का पहला बैच 2021 में डिग्री लेकर होगा। मेडिसिन काउंसिल ऑफ इंडिया (एमसीआई) के नियमों के तहत पहला बैच निकलने के बाद ही पीजी पाठ्यक्रमों में आवेदन शुरू होंगे। लोहिया अस्पताल का संस्थान में विलय के बाद 15 नए विभागों में एमडी व एमएस की पढ़ाई कराई जाएगी। इन पाठ्यक्रमों की मान्यता के लिए 2021 में आवेदन किया जाएगा। अभी पांच विभागों में एमडी के पाठ्यक्रमों में दाखिले हो रहे हैं। जिसमें मेडिसिन, सर्जरी, ईएनटी, पीएमआर, आर्थोपैडिक्स, स्त्री एवं प्रसूति रोग विभाग, पीडियाट्रिक, त्वचा, रिस्पेरेटरी मेडिसिन, कम्युनिटी मेडिसिन, फॉरेंसिक मेडिसिन, फार्मोकोलॉजी, एनॉटमी, फिजियोलॉजी और बायोकेमेस्ट्री विभाग में पीजी की पढ़ाई होगी। खास बात है कि प्रत्येक विभाग में चार सीटों के लिए आवेदन किया जाएगा।
 

RELATED NEWS

ADVERTISEMENT

ADVERTISEMENT