Home Interview खुद की जिन्दगी में सैकड़ों गम... दूसरों के चेहरों पर मुस्कान ला रहीं सण्डीला की किन्नर रेखा गुरू

खुद की जिन्दगी में सैकड़ों गम... दूसरों के चेहरों पर मुस्कान ला रहीं सण्डीला की किन्नर रेखा गुरू

EduBeats

हरदोई/लखनऊ

किन्नर समुदाय को लोग अक्सर घृणा की दृष्टि से देखते हैं लेकिन किन्रर समुदाय की गुरू रेखा ने कोरोना काल में लोगों की खूब मदद और सेवा की है। एजुकेशन बीट्स अपनी खास सीरीज "एक मुलाकात" में ऐसे लोगों के बारे में बताता आ रहा है जो समाज को अपने सकारात्मक कार्यों से एक बेहतर दिशा दे रहे हैं। रेखा ने अपनी जिंदगी में कई उतार-चढ़ाव देखें हैं पर उन्होंने कभी हार नहीं मानी और हमेशा लोगों के बीच लोगों की सेवा करने के लिए तत्पर नजर आईं।

 

रेखा बताती हैं कि उनके माता-पिता ने उन्हें बचपन से ही किन्नर समुदाय की गुरू मां के पास छोड़ दिया था और वहीं पर उनकी पढ़ाई की शुरूआत हुई। लोगों से रेखा को बहुत सारा प्यार भी मिलने लगा। रेखा बताती हैं कि उन्होंने कई ऐसी परिवार की लड़कियों का विवाह भी करवाया है जो आर्थिक रूप से कमजोर था और शादी करने की स्थिति में नहीं था। रेखा बताती हैं कि उन्हें हमेशा से ही पशु-पक्षियों और लोगों की सेवा करना अच्छा लगता था।

 

इसी के साथ ही रेखा आगे कहती हैं कि वह प्रतिवर्ष करीब 50 कन्याओं के विवाह में गहने, जेवर, कपड़े व गृहस्थी का सामान देकर भी मदद करती हैं। बता दें कि 26 जनवरी, 15 अगस्त व 2 अक्टूबर सहित राष्ट्रीय कार्यक्रमों में हिस्सा लेने के साथ रेखा बच्चों को पुरस्कृत भी करती हैं। कोरोना काल में भी रेखा ने लोगों को भोजन, कपड़े आदि की व्यवस्था करवाई है। रेखा कहती हैं कि उनके जीवन में दु:खी और असहाय लोगों का संपर्क बचपन से ही बना रहा। अनेक प्रकार से सहयोग कर रेखा ने अपनी सेवा भावना को समाज में दर्शाया भी है।

 


अड्डेबाजी

छपास प्रेमी

छपास प्रेमी

तस्वीरों में देखिए

UP में एक साल बाद खुले प्राथमिक विद्यालय, फूल और गुब्बारों से सजे स्कूलों में हुआ बच्चों का स्वागत
UP में एक साल बाद खुले प्राथमिक विद्यालय, फूल और गुब्बारों से सजे स्कूलों में हुआ बच्चों का स्वागत
उत्तराखंड संस्कृत विवि में तीन दिवसीय पुस्तक प्रर्दशनी का उद्घाटन
उत्तराखंड संस्कृत विवि में तीन दिवसीय पुस्तक प्रर्दशनी का उद्घाटन
पौधारोपरण कर मनाया गया गणतंत्र दिवस, देखें फैजुल्लागंज सरकारी स्कूल की खास तस्वीरें
पौधारोपरण कर मनाया गया गणतंत्र दिवस, देखें फैजुल्लागंज सरकारी स्कूल की खास तस्वीरें
सम्पूर्णानन्द संस्कृत विश्वविद्यालय ने राष्ट्रीय गणित दिवस के रूप में मनाई श्रीनिवास रामानुजन की जंयती
सम्पूर्णानन्द संस्कृत विश्वविद्यालय ने राष्ट्रीय गणित दिवस के रूप में मनाई श्रीनिवास रामानुजन की जंयती
यूपी के पहले डीआईजी सिराजुद्दीन अहमद के बेटे ने लविवि को सौंपी उनकी 100 साल पुरानी डिग्रियां
यूपी के पहले डीआईजी सिराजुद्दीन अहमद के बेटे ने लविवि को सौंपी उनकी 100 साल पुरानी डिग्रियां
संस्कृत विश्वविद्यालय में यूं मनाया गया गुरुनानक देव जी का 550वां प्रकाश पर्व
संस्कृत विश्वविद्यालय में यूं मनाया गया गुरुनानक देव जी का 550वां प्रकाश पर्व