Home Interview माता-पिता अपने बच्चों को स्कूली शिक्षा के साथ-साथ व्यवहारिक शिक्षा भी दें: बिन्दु गोयल

माता-पिता अपने बच्चों को स्कूली शिक्षा के साथ-साथ व्यवहारिक शिक्षा भी दें: बिन्दु गोयल

EduBeats

कानपुर/लखनऊ

एजुकेशन बीट्स अपनी खास सीरीज "एक मुलाकात" में ऐसे लोगों के बारे में बताता आ रहा है जो समाज को अपने सकारात्मक कार्यों से एक बेहतर दिशा दे रहे हैं। कोरोना महामारी की के दौरान जब सभी परेशान थे। जब लोग तड़प-तड़पकर ऑक्सीजन सिलेण्डर,दवाइयों के अभाव में मर रहे थे उस मुश्किल वक्त में परिधि सेवा संस्थान की अध्यक्ष बिन्दु गोयल नें लगभग हजारों जरूरतमंदों को ऑक्सीजन सिलेण्डर,अस्पतालों में बेड, वेंटिलेटर के साथ- साथ दवाइयों की सही जानकारी, ब्लड और प्लाज्मा की आवश्यकताओं को पूरा करके जरूरतमंदों की मदद की। 

 

बिन्दु गोयल ने कहा कि आज के समय में माता-पिता को चाहिए कि अपने बच्चों को स्कूली शिक्षा के साथ-साथ प्रारंभिक शिक्षा अवश्य दें... क्योंकि ऐसा माना जाता है कि माता-पिता ही सबसे पहले शिक्षक होते हैं। माता-पिता को चाहिए जो भी समाज में घटनाएं घटित हो रही हैं उनके बारे में अपने बच्चों को बताएं वह यह न सोचें कि इसकी आवश्यकता उन्हें नहीं हैं... क्या सही है क्या गलत है... हर एक बात की शिक्षा माता-पिता अपने बच्चों को अवश्य दें। कोरोना की अगली आने वाली लहर के बारे में बच्चों को जरूर बताएं.... उन्हें बाहर बहुत ही कम निकलने दें... 'इनडोर गेम' जो खेल घर में खेले जाते हैं उन्हें वह खेलने को कहें।

 

इसी के साथ ही बिन्दु बताती हैं कि उन्होंने कोरोना काल में जब सब कुछ बन्द चल रहा था उस वक्त ग्रामीण क्षेत्रों में एवं मलिन बस्तियों में जाकर मास्क, सेनेटाइजर और सेनेटरी पैड्स का भी वितरण किया। बिन्दु अभी भी जरूरतमंदों की सहायता में लगातार कार्यरत हैं। बिन्दु ने कानपुर के अलावा लखनऊ, वाराणसी, दिल्ली औऱ बाकी शहरों में भी सहायता की....इसी के साथ एजुकेशन बीट्स से खास बातचीत में बिन्दु गोयल ने और भी कई सामाजिक मुद्दों पर खास बातें कीं.... देखिए
 


अड्डेबाजी

छपास प्रेमी

छपास प्रेमी

तस्वीरों में देखिए

UP में एक साल बाद खुले प्राथमिक विद्यालय, फूल और गुब्बारों से सजे स्कूलों में हुआ बच्चों का स्वागत
UP में एक साल बाद खुले प्राथमिक विद्यालय, फूल और गुब्बारों से सजे स्कूलों में हुआ बच्चों का स्वागत
उत्तराखंड संस्कृत विवि में तीन दिवसीय पुस्तक प्रर्दशनी का उद्घाटन
उत्तराखंड संस्कृत विवि में तीन दिवसीय पुस्तक प्रर्दशनी का उद्घाटन
पौधारोपरण कर मनाया गया गणतंत्र दिवस, देखें फैजुल्लागंज सरकारी स्कूल की खास तस्वीरें
पौधारोपरण कर मनाया गया गणतंत्र दिवस, देखें फैजुल्लागंज सरकारी स्कूल की खास तस्वीरें
सम्पूर्णानन्द संस्कृत विश्वविद्यालय ने राष्ट्रीय गणित दिवस के रूप में मनाई श्रीनिवास रामानुजन की जंयती
सम्पूर्णानन्द संस्कृत विश्वविद्यालय ने राष्ट्रीय गणित दिवस के रूप में मनाई श्रीनिवास रामानुजन की जंयती
यूपी के पहले डीआईजी सिराजुद्दीन अहमद के बेटे ने लविवि को सौंपी उनकी 100 साल पुरानी डिग्रियां
यूपी के पहले डीआईजी सिराजुद्दीन अहमद के बेटे ने लविवि को सौंपी उनकी 100 साल पुरानी डिग्रियां
संस्कृत विश्वविद्यालय में यूं मनाया गया गुरुनानक देव जी का 550वां प्रकाश पर्व
संस्कृत विश्वविद्यालय में यूं मनाया गया गुरुनानक देव जी का 550वां प्रकाश पर्व