Home Experts-column एकाग्रता बढ़ाने के लिए स्टूडेंट्स अपनाएं ये 4 सरल योगा

एकाग्रता बढ़ाने के लिए स्टूडेंट्स अपनाएं ये 4 सरल योगा

EduBeats

लखनऊ

शारीरिक और मानसिक तनाव को दूर करने के लिए स्टूडेंट्स को नियमित रूप से योग करना चाहिए। योग सिर्फ स्टूडेंट्स को ही नहीं बल्कि हर उम्र के व्यक्ति को करना चाहिये। योग के जरिए शारीरिक फिटनेस, स्वास्थ्य और मानसिक क्षमता को भी बेहतर बनाने में मदद मिलती है, इसलिए योग हमारी जिंदगी का एक जरूरी हिस्सा होना चाहिए। तो आइए जानते है स्टूडेंट्स कैसे खुद को योग के जरिए तनाव मुक्त रख सकते हैं।

 

1. प्राणायाम 
इस आसन को हर रोज करने से तनाव कम होने के साथ ही रिलैक्स भी महसूस होता है और ब्लड सर्कुलेशन भी सही रहता है। प्राणायाम करने के लिए सांस को धीमीगति से अंदर खींचना होता है और धीमी गति से ही बाहर निकालना होता है। इस आसन को करने से पढ़ाई पर और अच्छे से ध्यान केन्द्रित किया जा सकता है। यह आसन स्टूडेंट्स के लिए बेहद फायदेमंद साबित होगा।

 

2. भुजंगासन
लगातार बैठकर काम करने या पढ़ाई करने से अक्सर शरीर में अकड़न बनी रहती है। इस आसन को पेट के बल लेट कर हाँथ के बल से शरीर का आधा हिस्सा उठा कर सिर को पीछे की ओर ले जाया जाता है। इससे शरीर की मांसपेशियों को आराम मिलता है और शरीर हल्का हो जाता है।

 

3. सुखासन
यह योग के सभी आसन में सबसे सरल आसन है। इस आसन को ध्यान या मेडिटेशन का आसन भी माना जाता है। इस आसन को करने से स्ट्रेस, एंजाइटी, और डिप्रेशन को दूर करने में मदद मिलती है और शरीर का संतुलन बना रहता है।

 

4. वृक्षासन
इस आसन को करने से मन शांत रहता है और एकाग्रता बढ़ती है। इस आसन में एक पैर पर खड़ा रहना होता है और ध्यान को एकाग्र करना होता है। इस आसन को हर उम्र का व्यक्ति कर सकता है। ये आसन पैरों को मजबूती प्रदान करता है।
  

योग के जरिए आप न केवल शारीरिक बल्कि मानसिक तौर पर भी खुद को मजबूत बना सकते हैं। योग आपके मन को शान्ति देने के साथ ही आपको मजबूत भी बनाता है। इसलिए सभी को भाग-दौड़ भरी जिंदगी से कुछ वक्त निकाल कर योग जरूर करना चाहिये।

RELATED NEWS

ADVERTISEMENT

ADVERTISEMENT

PHOTO GALLERY

सम्पूर्णानन्द संस्कृत विश्वविद्यालय ने राष्ट्रीय गणित दिवस के रूप में मनाई श्रीनिवास रामानुजन की जंयती
सम्पूर्णानन्द संस्कृत विश्वविद्यालय ने राष्ट्रीय गणित दिवस के रूप में मनाई श्रीनिवास रामानुजन की जंयती
यूपी के पहले डीआईजी सिराजुद्दीन अहमद के बेटे ने लविवि को सौंपी उनकी 100 साल पुरानी डिग्रियां
यूपी के पहले डीआईजी सिराजुद्दीन अहमद के बेटे ने लविवि को सौंपी उनकी 100 साल पुरानी डिग्रियां
संस्कृत विश्वविद्यालय में यूं मनाया गया गुरुनानक देव जी का 550वां प्रकाश पर्व
संस्कृत विश्वविद्यालय में यूं मनाया गया गुरुनानक देव जी का 550वां प्रकाश पर्व
पठानकोट: NSUIके जिलाध्यक्ष बनाए गए अभयम शर्मा, काफिले की भीड़ देख उड़ जाएंगे होश
पठानकोट: NSUIके जिलाध्यक्ष बनाए गए अभयम शर्मा, काफिले की भीड़ देख उड़ जाएंगे होश
वाह दुर्गेश! लविवि का शताब्दी वर्ष, 100 परिवारों के बच्चों को बांटी कॉपी किताबें और खुशियां
वाह दुर्गेश! लविवि का शताब्दी वर्ष, 100 परिवारों के बच्चों को बांटी कॉपी किताबें और खुशियां
दिवाली पर रोशन हुए सरकारी स्कूल, शिक्षकों संग बच्चों ने बनाई रंगोली और जलाए दीपक
दिवाली पर रोशन हुए सरकारी स्कूल, शिक्षकों संग बच्चों ने बनाई रंगोली और जलाए दीपक