Home News सफलता पानी है तो ऑफिस में न करें ये कार्य

सफलता पानी है तो ऑफिस में न करें ये कार्य

ऑफिस में सबसे यह उम्मीद की जाती है कि आप वहां पर प्रोफेशनल दिखें। आपका यह नजरिया आपको हमेशा आगे की ओर अग्रसर करता है। लेकिन, कई बार ऑफिस में कॉलीग्स के बीच में अनप्रोफेशनल व्यवहार होने लगता है। जिससे वे स्वयं को परेशानी में डालते हैं, साथ ही वर्क प्लेस के माहौल को भी प्रभावित करते हैं। इसलिए जरूरी है कि आप ऑफिस में अपने व्यवहार का अच्छे से आकलन करते रहें। हो सकता है कि आपकी कोई आदत आपकी नजर में सही हो, लेकिन याद रखें कि वर्कप्लेस पर कॉलीग्स आपकी हर क्रिया को नोट करते हैं। इसलिए सर्तकता बरतें।

 

काम से पिछे ना हटें

जब आप अपना काम करने से कतराते हैं, तो आपके व्यवहार को अव्यवसायिक माना जाता है। वहीं जब आप आगे बढ़कर खुद जिम्मेदारी लेते हैं तो सबके सामने आपकी छवि सकारात्मक बनती है।

 

स्पष्टता के महत्व को समझें

यदि आप एक टीम का नेतृत्व कर रहे हैं, तो आपके काम करने के तरीके में स्पष्टता जरूर होनी ही चाहिए। बातचीत में स्पष्टता होना हमेशा अच्छा माना जाता है।स्पष्ट बात करने वाले लोगों को हर कोई पसंद करता है और इससे टीम में भी विश्वास की भावना बढ़ती है। खास तौर से ऑफिस में होने वाले महत्वपूर्ण परिवर्तनों को जरूर साझा करें। शुरू में इस आदत को अपनाने में कठिनाई होती है, किन्तु धीरे-धीरे यह आपकी आदत बन जाती है। प्रोफेशनल फ्रंट पर इससे हमेशा ही आपको फायदा मिलता है।

 

व्यर्थ की बातें न करें

आप कम बोलते हैं या ज्यादा इससे कोई फर्क नहीं पड़ता। फर्क इससे पड़ता है कि बोलते समय आप किन शब्दों का चयन कर रहे हैं। ऑफिस में व्यर्थ की बात करने से बचें। इससे आपकी छवि खराब होती है। हमेशा बात करते समय इन बातों का विशेष ध्यान रखना चाहिए। गलती से भी गलत शब्द का प्रयोग न करें। इससे दूसरों का कम नुकसान आपका ज्यादा होता है।

 

जरूरत से ज्यादा आत्मविश्वास है घातक

ऑफिस में आत्मविश्वास अच्छी चीज होती है। इससे आपको कार्य को अच्छे से करने में सहायता मिलती है वहीं, जरूरत से ज्यादा आत्मविश्वास नुकसानदायक होता है। कई बार ऐसा होता है कि आपको यह लग सकता है कि आपके जैसा कोई और नहीं है। यह आपके लिए खतरे की घंटी है। इससे जोखिम बढ़ने लगता है। आपको पता भी नहीं चलता है और ऑफिस में आपकी छवि को काफी नुकसान पहुंच सकता है।

 

जाति-धर्म पर ना करें बात

ऑफिस में काम के साथ ही सहकर्मियों के साथ अलग-अलग  पर बातचीत भी होती है। कई बार कुछ टॉपिक्स पर बात करने से नुकसान भी हो सकता है। एक ऑफिस में अलग-अलग धर्मों के लोग काम करते हैं। किसी दूसरे धर्म की बुराई करने से उस धर्म के मानने वाले लोगों की भावना आहत हो सकती है।

 

राजनीति की बातों से रहें दूर

राजनीति को लेकर प्रत्येक व्यक्ति की अलग-अलग राय होती है। हो सकता है मौजूदा सरकार के कामकाज के तरीके से आप खुश न हों लेकिन दूसरों को कोई शिकायत नहीं हो। अगर आप किसी पार्टी या सरकार को बुरा-भला कहें तो दूसरों को बुरा लग सकता है।

 

निजी समस्या को न करें सार्वजनिक

किसी भी व्यक्ति के निजी जीवन में समस्या हो सकती हैं। यह समस्या घर की किसी भी स्थिति के कारण हो सकती है। लेकिन ऑफिस में इस विषय पर चर्चा करने से आपको लेकर सब पर नकारात्मक प्रभाव पड़ेगा।

RELATED NEWS

ADVERTISEMENT

ADVERTISEMENT