Home Experts-column IAS की Class 2: सिविल सेवा परीक्षा की प्रारंभिक परीक्षा की, बेसिक जानकारी

IAS की Class 2: सिविल सेवा परीक्षा की प्रारंभिक परीक्षा की, बेसिक जानकारी

EduBeats

गौरव बाजपेई

 

पिछले अंक में आपने सिविल सेवाओं के स्वरूप, त्रिस्तरीय परीक्षा प्रणाली तथा परीक्षा में बैठने की आयुसीमा के विषय में जानकारी प्राप्त की थी।

 

आज हम सिविल सेवा परीक्षा की प्रारंभिक परीक्षा के बारे में चर्चा करेंगे। यह परीक्षा गम्भीर तथा अगम्भीर परीक्षार्थियों की छँटनी के लिए आयोजित की जाती है।

 

प्रारम्भिक परीक्षा में दो प्रश्नपत्र होते हैं। पहला प्रश्नपत्र सामान्य अध्ययन का होता है। इसमें 200 पूर्णांक के 100 प्रश्न पूछे जाते हैं। प्रत्येक प्रश्न 2 अंक का तथा ऑब्जेक्टिव होता है जिसमें 4 विकल्पों में से 1 सही विकल्प चुनना होता है। एक ग़लत उत्तर पर नियत अंकों का एक तिहाई काटने का भी इसमें प्रावधान होता है अर्थात यदि आपने 100 में से 50 प्रश्न सही किए और 50 प्रश्न ग़लत किए तो 50 सही प्रश्नों से आपको 100 अंक प्राप्त होंगे, किन्तु 50 ग़लत प्रश्नों से आपको ऋणात्मक 33.33 अंक प्राप्त होंगे और आपका कुल स्कोर 100-33.33=66.67 होगा। प्रश्न न हल करने पर आपको न तो कोई अंक प्राप्त होगा और न ही कोई अंक कटेगा।

 

प्रथम प्रश्न पत्र में निम्न सेग्मेंट्स से प्रश्न पूछे जाते हैं-

 

 भारत का इतिहास

 भारत एवं विश्व का भूगोल

 भारतीय अर्थव्यवस्था

 भारतीय संविधान तथा राजव्यवस्था

 विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी

 पर्यावरण एवं पारिस्थितिकी

 जनसंख्या एवं नगरीकरण

 समसामयिक घटनाएँ (भारत एवं विश्व)

 

प्रारम्भिक परीक्षा का द्वितीय प्रश्नपत्र CSAT अर्थात Civil Services Aptitude Test होता है। इसमें 200 पूर्णांक के 80 प्रश्न पूछे जाते हैं। इसमें भी निगेटिव मार्किंग का वही प्रावधान होता है जो प्रथम प्रश्नपत्र में रहता है।

 

द्वितीय प्रश्नपत्र में निम्न सेग्मेंट्स से प्रश्न पूछे जाते हैं-

 

 बोधगम्यता

 संचार कौशल सहित अंतर-वैयक्तिक कौशल

 तार्किक कौशल एवं विश्लेषण क्षमता

 निर्णयन तथा समस्या समाधान

 सामान्य मानसिक योग्यता

 आधारभूत गणना (10 वीं कक्षा का स्तर)

 आँकड़ों का विश्लेषण (10 वीं कक्षा का स्तर)

 अंग्रेजी भाषा में बोधगम्यता कौशल (10 वीं कक्षा का स्तर)


 

श्रृंखला के अगले अंक में हम प्रश्नपत्रवार सेग्मेंटवार रणनीति, पाठ्यसामग्री तथा पढ़ने के तरीके के बारे में चर्चा करेंगे।

RELATED NEWS

ADVERTISEMENT

ADVERTISEMENT