Home News नकल रोकने का अजब तरीका, छात्रों को कार्टन पहना ली परीक्षा

नकल रोकने का अजब तरीका, छात्रों को कार्टन पहना ली परीक्षा

बेंगलुरु
कर्नाटक के हावेरी जिले के एक कॉलेज में परीक्षा में नकल रोकने के लिए कॉलेज प्रशासन ने अजीब तरीका अपनाया। इस तरीके के बारे में जानकर आप न सिर्फ हैरान हो जाएंगे, बल्कि यह सोचने पर भी मजबूर हो जाएंगे कि आखिर इस कॉलेज के छात्र नकल को कितने आतुर थे कि कॉलेज प्रशासन को इस तरह का फैसला लेना पड़ा।

 

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, बीते 16 अक्टूबर को भगत प्री-यूनिवर्सिटी कॉलेज में जब छात्र परीक्षा में बैठे तो उन्हें कार्टन (गत्ते का डिब्बा) दिया गया, जिसमें सिर्फ सामने की तरफ का हिस्सा काटा गया था। इस कार्टन को पहनाकर छात्रों की परीक्षा ली गई, ताकि वे नकल के लिए इधर उधर न देखें और उनकी नजरें सिर्फ प्रश्न पत्र और उत्तर पुस्तिका पर रहें। सूत्रों ने कहा कि कॉलेज के अधिकारियों ने इसे नकल रोकने के लिये एक 'प्रयोग' बताया। हालांकि जैसे ही कार्टन पहने छात्रों की तस्वीरें वायरल हुईं, शिक्षा विभाग के अधिकारी कॉलेज पहुंचे और उसे रुकवाया। 

 

 

हावेरी बेंगलुरु से 335 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। यह चौंकाने वाली घटना बुधवार की है और इसका खुलासा तब हुआ जब शुक्रवार को को-एजुकेटिड निजी कॉलेज के छात्रों का परीक्षा हॉल का एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया जिसमें छात्र गत्ते का डिब्बा पहने परीक्षा देते नजर आए। छात्र अपनी कक्षा में अर्थशास्त्र और रसायन विज्ञान की परीक्षा दे रहे थे। 

 

शिक्षा विभाग से जुड़े अधिकारियों ने कहा कि कॉलेज को कारण बताओ नोटिस जारी किया गया है। उन्होंने कहा कि वजह जो भी हो, उन्हें (छात्रों को) लिखित परीक्षा के दौरान डिब्बे पहनने के लिए नहीं कहा जा सकता। हमारी ओर से ऐसी कोई सलाह नहीं दी गई, न ही ऐसा कोई नियम है। हालांकि, छात्र सांस ले सके और देख सकें, इसलिए डिब्बों को सामने से काटा गया था, लेकिन वे अपने बेंच पर बैठे अन्य छात्रों की उत्तर पुस्तिका देखने के लिए सिर को बाएं या दाएं नहीं हिला सकते थे। कर्नाटक के प्राथमिक एवं माध्यमिक शिक्षा मंत्री एस. सुरेश कुमार ने कहा कि यह पूरी तरह अस्वीकार्य है। किसी को भी ये अधिकार नहीं है कि वे छात्रों के साथ जानवरों की तरह व्यवहार करे। इस विकृति से सख्ती से निपटा जाएगा। वहीं मामले पर विवाद बढ़ता देख कॉलेज प्रशासन की तरफ से माफी मांगी गई है।

RELATED NEWS

ADVERTISEMENT

ADVERTISEMENT