Home College कोरोना संकट में 'पहले छात्रों की सुरक्षा फिर परीक्षा' 

कोरोना संकट में 'पहले छात्रों की सुरक्षा फिर परीक्षा' 

EduBeats

नई दिल्ली

सीबीएसई द्वारा 10वीं एवं 12वीं कक्षा की शेष रह गई बोर्ड परीक्षाएं रद्द कर दी गई हैं। सीबीएसई ने ही सेंट्रल टीचर्स एलिजिबिलिटी टेस्ट यानी सीटीईटी की परीक्षाएं भी निलंबित करने का निर्णय लिया है। विभिन्न केंद्रीय विश्वविद्यालयों की सेमेस्टर परीक्षाएं एवं फाइनल एग्जाम भी कोरोनावायरस के कारण नहीं लिए जा सके हैं। इस पूरी स्थिति पर मानव संसाधन विकास मंत्रालय ने कहा, पहले सुरक्षा फिर शिक्षा। यानी छात्रों की सुरक्षा से कोई समझौता नहीं होगा। कोई भी कदम उठाने से पहले छात्रों की सुरक्षा सुनिश्चित की जाएगी। सुरक्षित माहौल में ही छात्र कक्षा या फिर परीक्षा में शामिल हो सकते हैं। 

 

दिल्ली विश्वविद्यालय का ओपन बुक मॉक टेस्ट पहले दिन ही विफल हो गया। पोर्टल क्रैश होने से छात्र-छात्राओं को पेपर अपलोड और डाउनलोड करने में परेशानी का सामना करना पड़ा। मॉक टेस्ट देने की जगह छात्र तकनीकी उलझन में फंस कर रह गए। मॉक टेस्ट में आई इस तकनीकी खामी के बाद अब अब ओपन बुक टेस्ट को ही रद्द करने की मांग उठाई जा रही है। आम आदमी पार्टी(आप) के राज्यसभा सांसद संजय सिंह ने कहा, मौजूदा ऑनलाइन मॉक टेस्ट व्यवस्था दिल्ली विश्वविद्यालय में पढ़ने वाले चार लाख छात्रों के भविष्य पर एक बहुत बड़ा प्रश्न चिन्ह लगा रही है। इस विषय पर मैं केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री को एक पत्र लिखने जा रहा हूं, जिसके माध्यम से ऑनलाइन परीक्षाओं को रद्द करने की मांग की जाएगी। कोरोनावायरस के कारण ही तीन बार जेईई (मेन) और नीट की परीक्षा स्थगित की जा चुकी हैं। 

 

ये भी पढ़ें: गृह मंत्रालय ने विश्वविद्यालयों को परीक्षाएं आयोजित कराने की दी अनुमति 

 

नेशनल टेस्टिंग एजेंसी के महानिदेशक विनीत जोशी द्वारा जारी किए गए आदेश के मुताबिक, अब जेईई मेन की परीक्षा 1-6 सितंबर के बीच होगी। नीट की परीक्षा 13 सितंबर को होगी। जेईई एडवांस की परीक्षा 27 सितंबर को होगी। पहले जेईई की परीक्षा 18 जुलाई से 23 जुलाई के बीच और नीट की परीक्षा 26 जुलाई को होनी थी। देशभर के विभिन्न विश्वविद्यालयों में पीएचडी और एमफिल की कई परीक्षाएं ऑनलाइन माध्यमों से ली जा सकती हैं। विश्वविद्यालयों को इस बारे में यूजीसी और केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्रालय द्वारा सूचित कर दिया गया है। उच्च शिक्षा में यह व्यवस्था कोरोनावायरस के कारण लागू लॉकडाउन के चलते की गई है। हालांकि कोरोना संक्रमण के कारण उत्पन्न हुए हालात के मद्देनजर ये परीक्षाएं भी नहीं हो सकी हैं। 
आईएएनएस 

RELATED NEWS

ADVERTISEMENT

ADVERTISEMENT