Home College IIT दिल्ली में अफगानी छात्रों को एडमिशन तो मिला लेकिन नहीं मिल सका भारत का ई-वीजा

IIT दिल्ली में अफगानी छात्रों को एडमिशन तो मिला लेकिन नहीं मिल सका भारत का ई-वीजा

EduBeats

नई दिल्ली
अफगानिस्तान के कई छात्रों ने रिसर्च और टेक्नोलॉजी से जुड़े पाठ्यक्रमों के लिए भारतीय संस्थानों में आवेदन किया है। इनमें से कई छात्रों ने आईआईटी दिल्ली में आवेदन किया और दाखिला पाने में भी सफल रहे। बावजूद इसके ये छात्र आईआईटी दिल्ली नहीं आ सके। इसका बड़ा कारण यह है कि इनमें से किसी भी छात्र को भारत का वीजा नहीं मिल सका है।

 

आईआईटी दिल्ली के निदेशक प्रोफेसर वी. राम गोपाल राव ने बताया कि आईआईटी दिल्ली ने भारत का वीजा हासिल करने के लिए आईआईटी दिल्ली से संबंधित अफगानी छात्रों की मदद की। ई-वीजा किस प्रकार हासिल किया जाए, कैसे इसके लिए आवेदन किया जाए, आवेदन के साथ क्या दस्तावेज संलग्न किए जाएं, इसमें आईआईटी दिल्ली के विशेषज्ञों ने अफगानी छात्रों का मार्गदर्शन किया। लेकिन किसी भी छात्र को भारत का ही वीजा अभी तक नहीं मिला है।

 

आईआईटी दिल्ली के निदेशक का कहना है कि अफगानी छात्रों के वीजा के विषय पर आईआईटी दिल्ली केंद्रीय गृह मंत्रालय और विदेश मंत्रालय के संपर्क में है। प्रोफेसर वी रामगोपाल राव के मुताबिक जिस समय अफगानिस्तान में उथल-पुथल शुरू हुई उस समय आईआईटी दिल्ली के पीएचडी विभाग में 16 अफगानी छात्रों का नामांकन था। इनमें से एक छात्र भारत में था जबकि शेष 15 अफगानिस्तान में थे। नए दाखिले के दौरान भी पीजी पाठ्यक्रमों की अंतिम तारीख बीत जाने के बावजूद अफगानी छात्रों को इन पाठ्यक्रमों में आवेदन करने का अतिरिक्त अवसर प्रदान किया गया है।

 

तालिबान ने अफगानिस्तान की राजधानी काबुल समेत अफगानिस्तान के अधिकांश हिस्सों पर कब्जा कर लिया है। इसके बाद वहां स्थिति तनावपूर्ण बनी हुई है। संकट की इस घड़ी में अब आईआईटी दिल्ली जैसे संस्थान अफगानिस्तान के अपने छात्रों की मदद के लिए आगे आए हैं। आईआईटी ने अफगानिस्तान की स्थिति को लेकर कहा कि वह अफगान छात्रों को कैंपस में वापस लाने की कोशिश करेगा।

 

आईआईटी दिल्ली के मुताबिक संकट की इस घड़ी में आईआईटी दिल्ली अपने छात्रों और अफगानिस्तान के अपने पूर्व छात्रों के साथ खड़ा रहेगा। गौरतलब है कि अफगानिस्तान से अमेरिकी सेनाएं वापस लौट चुकी हैं। इसके बाद वहां तालिबान का कब्जा हो गया है। इस घटनाक्रम के उपरांत लगातार विभिन्न देशों के राजनयिक भी अफगानिस्तान से वापस लौटे हैं। उनके अलावा बड़ी संख्या में महिलाएं एवं व्यवसायी भी अफगानिस्तान छोड़कर स्वदेश लौट चुके हैं।
आईएएनएस


अड्डेबाजी

छपास प्रेमी

छपास प्रेमी

तस्वीरों में देखिए

UP में एक साल बाद खुले प्राथमिक विद्यालय, फूल और गुब्बारों से सजे स्कूलों में हुआ बच्चों का स्वागत
UP में एक साल बाद खुले प्राथमिक विद्यालय, फूल और गुब्बारों से सजे स्कूलों में हुआ बच्चों का स्वागत
उत्तराखंड संस्कृत विवि में तीन दिवसीय पुस्तक प्रर्दशनी का उद्घाटन
उत्तराखंड संस्कृत विवि में तीन दिवसीय पुस्तक प्रर्दशनी का उद्घाटन
पौधारोपरण कर मनाया गया गणतंत्र दिवस, देखें फैजुल्लागंज सरकारी स्कूल की खास तस्वीरें
पौधारोपरण कर मनाया गया गणतंत्र दिवस, देखें फैजुल्लागंज सरकारी स्कूल की खास तस्वीरें
सम्पूर्णानन्द संस्कृत विश्वविद्यालय ने राष्ट्रीय गणित दिवस के रूप में मनाई श्रीनिवास रामानुजन की जंयती
सम्पूर्णानन्द संस्कृत विश्वविद्यालय ने राष्ट्रीय गणित दिवस के रूप में मनाई श्रीनिवास रामानुजन की जंयती
यूपी के पहले डीआईजी सिराजुद्दीन अहमद के बेटे ने लविवि को सौंपी उनकी 100 साल पुरानी डिग्रियां
यूपी के पहले डीआईजी सिराजुद्दीन अहमद के बेटे ने लविवि को सौंपी उनकी 100 साल पुरानी डिग्रियां
संस्कृत विश्वविद्यालय में यूं मनाया गया गुरुनानक देव जी का 550वां प्रकाश पर्व
संस्कृत विश्वविद्यालय में यूं मनाया गया गुरुनानक देव जी का 550वां प्रकाश पर्व