Home News बंक ना मार पाएं छात्र, लखनऊ के जुबिली कॉलेज ने बनाया खास प्लान

बंक ना मार पाएं छात्र, लखनऊ के जुबिली कॉलेज ने बनाया खास प्लान

लखनऊ

उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ स्थित राजकीय जुबिली इंटर कॉलेज के प्रिंसिपल सर्वदानंद ने टेक्नोलॉजी का असल इस्तेमाल किया है। कॉलेज में  जल्द ही एडुस्कॉल ऐप शुरू किया जाएगा। इस ऐप की खास बात यह होगी कि इससे न सिर्फ टीचर्स को रजिस्टर के झंझट से आजादी मिलेगी, बल्कि स्टूडेंट्स के पैरेंट्स भी अपने बच्चों की गतिविधियों से अपडेट रहेंगे।

 

एक ऐप से होंगे कई काम

जुबिली कॉलेज के शिक्षक बच्चों की अटेंडेंस, टाइम टेबल, उनकी परफॉर्मेंस रिपोर्ट और छुट‌्टी के आवेदन सहित कई काम ऐप के जरिए ही कर पाएंगे। एडुस्कॉल ऐप के जरिए शिक्षकों और अभिभावकों के बीच लगातार संवाद बना रहेगा। इसके अलावा स्कूल प्रशासन को भी छात्रों का ब्योरा रखने में आसानी होगी। इस ऐप के माध्यम से छात्र अपनी फीस भी पेटीएम, नेट बैंकिंग, डेबिट कार्ड इत्यादि का प्रयग करके जमा कर पाएंगे।

 

बंक मारने पर अभिभावकों को जाएगा एसएमएस

जुबिली कॉलेज के प्रिंसिपल सर्वदानंद ने एजुकेशन बीट्स से खास बातचीत में बताया कि ऐप के इस्तेमाल के लिए हर टीचर को एक यूजर आईडी और पासवर्ड दिया जाएगा। कोई छात्र अब्सेंट रहेगा तो टीचर ऐप पर उसे अनुपस्थित दिखाकर जैसे ही अटेंडेंस रिपोर्ट सब्मिट करेगा, छात्र के अभिभावक को इसकी जानकारी एसएमएस से चली जाएगी कि उनका बच्चा उस दिन स्कूल नहीं गया है।

 

पहली बार सरकारी स्कूल में टेक्नॉलजी का ऐसा इस्तेमाल

आपको बता दें कि शहर के कई प्राइवेट स्कूलों में इस तरह के ऐप का इस्तेमाल हो रहा है, जिनकी मदद से टीचर स्टूडेंट्स की पूरी रिपोर्ट मोबाइल पर ही रखते हैं। लेकिन किसी सरकारी स्कूल में टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल करके इस तरह का प्रयोग पहली बार होने जा रहा है। आपको बता दें कि राजकीय जुबिली इंटर कॉलेज में 54 शिक्षक और करीब 1300 छात्र हैं। एडुस्कॉल ऐप को विजन सॉफ्टवेयर सल्यूशन कंपनी ने डेवलप किया है।
 

RELATED NEWS

ADVERTISEMENT

ADVERTISEMENT