Home News काशी में अंग्रेजी काव्य उत्सव, पहली बार अंग्रेजी के कवि बहाएंगे कविता की रसधारा

काशी में अंग्रेजी काव्य उत्सव, पहली बार अंग्रेजी के कवि बहाएंगे कविता की रसधारा

वाराणसी

आपने भारत में हिंदी कवि सम्मेलन या काव्य संगोष्ठियां तो जरूर सुनी होंगी लेकिन इस बार प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी में अंग्रेजी का कवि सम्मेलन होने जा रहा है। जी हां! हैरान ना हों, काशी में पहली बार अंग्रेजी काव्य उत्सव का आयोजन किया जाएगा। इस उत्सव में देश-विदेश से अंग्रेजी भाषा के जाने-माने कवि शामिल होंगे। काशी के कमच्‍छा स्थित वसंत कन्‍या महाविद्यालय में इस कार्यक्रम का आयोजन किया जाएगा। यह कार्यक्रम आगामी 19 अक्टूबर को किया जाएगा।

 

जानकारी के मुताबिक, इस काव्य उत्सव में हिमाचल, पंजाब, दिल्‍ली, असम, पश्चिम बंगाल के साथ ही अमेरिका, भूटान, मॉरीशस, नेपाल समेत कई देशों के अंग्रेजी भाषा के कवि हिस्सा लेंगे। अंग्रेजी भाषा के 80 से ज्‍यादा कवियों के इस काव्य उत्सव में शामिल होने की उम्मीद है। अंग्रेजी के अलावा हिंदी में भी कुछ कवि काव्यपाठ करेंगे।

 

कार्यक्रम में जाने माने कवि सुदीप सेन मुख्य वक्ता के रूप में शामिल होंगे। वहीं पंजाब के कवि प्रो. जनरल सिंह कार्यक्रम के अध्यक्ष होंगे। वसंत कन्‍या महाविद्यालय के अंग्रेजी विभाग के द्वारा इस कार्यक्रम का आयोजन किया जा रहा है। विभाग की विभागाध्यक्ष प्रो. बीना ने एजुकेशन बीट्स को बताया कि हिंसा और नफरत से भरे इस समय में कविता एक माध्यम हो सकती है, प्रेम को प्रतिस्थापित करने की। उन्होंने बताया कि आज के समय में जरूरत है कि लोग नफरत को छोड़कर मोहब्बत को अपनाएं।

 

प्रो. बीना ने बताया कि कार्यक्रम में कई देशों के कवि जो किसी कारणवश कार्यक्रम में नहीं आ पा रहे हैं, वे अपने वीडियो रिकॉर्ड करें हमें भेज रहे हैं। हम उन वीडियोज को भी कार्यक्रम में शामिल करेंगे। उन्होंने बताया कि इस दौरान अंग्रेजी काव्‍य संग्रह 'रिडेम्पिटव म्‍यूजिंग्‍स' का विमोचन भी किया जाएगा। कार्यक्रम का समापन सुबह-ए-बनारस के मंच पर होगा। समापन कार्यक्रम में विभाग की छात्राओं के द्वारा सांस्कृतिक कार्यक्रम आयोजित किए जाएंगे।

 

RELATED NEWS

ADVERTISEMENT

ADVERTISEMENT