Home News लविवि से सम्बद्ध कॉलेजों में मची लूट का पूरा खेल, देखें एजुकेशन बीट्स का बड़ा स्टिंग ऑपरेशन

लविवि से सम्बद्ध कॉलेजों में मची लूट का पूरा खेल, देखें एजुकेशन बीट्स का बड़ा स्टिंग ऑपरेशन

लखनऊ

जीवन का प्रमुख आधार शिक्षा प्राप्त करने के लिए छात्र शिक्षा के मंदिर कहे जाने वाले कॉलेजों की तरफ रुख करते हैं। विद्यार्थियों को शिक्षित कर उनका भविष्य बनाना कॉलेज का एकमात्र उद्देश्य होना चाहिए लेकिन वर्तमान समय में शिक्षा के मंदिरों में हो रही शिक्षा की खरीदफरोख्त हैरान करने वाली है। जिस तरह की स्थितियां बन रही हैं, ऐसे में विद्यार्थियों के भविष्य का तो पता नहीं लेकिन शिक्षा माफियाओं का भविष्य जरूर बन रहा है। शिक्षा के दलाल किसी की परवाह न करते हुए नियमों की धज्जियां उड़ा रहे हैं। उत्तर प्रदेश के एकमात्र एजुकेशन बेस्ड न्यूज पोर्टल एजुकेशन बीट्स की टीम ने लखनऊ विश्वविद्यालय के अधिकारियों की आंखें खोलने के लिए विश्वविद्यालय से संबंद्ध कॉलेजों में स्टिंग ऑपरेशन किया। इस स्टिंग ऑपरेशन में जो सच्चाई सामने आई, उसे जानकर किसी के भी होश उड़ जाएंगे।   

 

एजुकेशन बीट्स की रिपोर्टर निमिषा बाजपेई और पूर्ति सिंह 22 सितंबर को स्टूडेंट बनकर एडमिशन के लिए बख्शी तालाब स्थित वनस्थली गर्ल्स डिग्री कॉलेज पहुंची तो सितंबर महीने में भी बड़ी आसानी से बात बन गई। पैसे के दम पर यह सब संभव हो गया। यहां पर उनसे लेट फीस के नाम पर 1000 रुपए मांगे गए साथ ही एडमिशन का पूरा खेल भी समझाया गया। कॉलेज में बताया गया कि 9350 रुपए में आप बीए में एडमिशन ले सकते हैं। हद तो तब हो गई जब कॉलेज के क्लर्क ने सीधे तौर पर कहा कि आप अगर कॉलेज नहीं भी आओगी तो भी कोई दिक्कत नहीं है, आराम से एग्जाम देने आ जाना। 

 

इसके बाद टीम ने बख्शी तालाब के ही इस श्री दुर्गा शिक्षा निकेतन महाविद्यालय की ओर कूच किया तो यहां भी आलम वनस्थली गर्ल्स डिग्री कॉलेज जैसा ही था। यहां पर रिपोर्टर से कहा गया कि आपको सिर्फ पैसे देने हैं बाकी काम कॉलेज प्रशासन खुद कर लेगा। इसके साथ यह जानकारी दी गई कि यहां पर एग्जाम फीस, इनरोलमेंट फीस, कॉलेज फीस सहित आप 11000 दे दीजिए और बाकी सब उन पर छोड़ दीजिए। इसके अलावा यह भी बताया गया कि आप असाइनमेंट जमा कर दीजिए और आपको कॉलेज आने की भी जरूरत नहीं है। 

 

फैजाबाद रोड स्थित चिनहट के रामा डिग्री कॉलेज में जब टीम पहुंची तो यहां भी पैसे लेकर फर्जीवाड़े का खेल चल रहा था। रामा डिग्री कॉलेज में स्टूडेंट बनकर पहुंचीं रिपोर्टर से कहा गया कि आप कॉलेज आएं या ना आएं, बस फीस भर दें। आपका काम होता रहेगा। कॉलेज में एग्जाम फीस के नाम पर प्रति सेमेस्टर 2200 रुपए की मांग की गई। वहीं, चिनहट स्थित सिटी अकेडमी डिग्री कॉलेज भी अन्य कॉलेजों के रंग में रंगा हुआ था। यहां भी आप पैसा दीजिए और अटेंडेंस आदि की चिंता करना छोड़ दीजिए। 

 

निराला नगर स्थित रामाधीन गर्ल्स डिग्री कॉलेज में तो सीधे तौर पर रिपोर्टर से कहा गया कि आपको कॉलेज आने की कोई जरूरत नहीं है। कॉलेज में बताया गया कि आपको 10800 रुपये जमा करने होंगे और इसके बाद पूरी जिम्मेदारी हम लोगों की होगी। पैसे जमा करके अटेंडेंस के लिए बिल्कुल निश्चिंत हो जाइए। 

 

सीतापुर रोड पर मड़ियांव स्थित ज्ञानोदय डिग्री कॉलेज में जब टीम पहुंची तो बताया गया कि आप पैसे जमा कर दें। इसके बाद आपका एडमिशन बैक डेट में हो जाएगा और अटेंडेंस भी पूरी कर दी जाएगी। इन सब के लिए ज्ञानोदय डिग्री कॉलेज में कुल 11350 रुपये मांगे गए।  

 

बता दें कि लखनऊ विश्वविद्यालय के नियमों के अनुसार, कॉलेजो में विद्यार्थियों की अटेंडेंस 75 फीसदी अनिवार्य रूप से होनी चाहिए। अगर विद्यार्थी 75 फीसदी अटेंडेंस को पूरा नहीं करेंगे तो उन्हें एग्जाम में बैठने नहीं दिया जाएगा। अगर देखा जाए तो अधिकतर कॉलेजों में विद्यार्थी नियमानुसार अटेंडेंस पूरी नहीं कर पाते हैं। इसी बात का फायदा कॉलेज उठाते हैं और विद्यार्थियों से मनमानी रकम वसूलते हैं।

RELATED NEWS

ADVERTISEMENT

ADVERTISEMENT